कश्मीर : धरती का स्वर्ग (Trip to Kashmir : Paradise on Earth - Hindi Blog)

कश्मीर(Kashmir) - भारत के सुदूर उत्तरी भौगोलिक क्षेत्र ग्रेट हिमालय(Great Himalaya) और पीर पंजाल पर्वत श्रेणी(Pir Panjal Range) के मध्य बसा एक बेहद खूबसूरत भूभाग है। कश्मीर की सुंदरता के बारे में हम सभी बचपन से सुनते और पढ़ते आ रहे हैं। राजनैतिक और सुरक्षा कारणों से अतीत में यहाँ घूमने वाले लोगों की संख्या सीमित रही है। लेकिन भारतीय सिनेमा में कश्मीर अपनी छाप हम सभी के जेहन में हमेशा से छोड़ता रहा है। वर्तमान में कश्मीर की परिस्थितियाँ पर्यटन के लिए बहुत बेहतर हुई हैं जिसके कारण अब लोग धरती के स्वर्ग कश्मीर का रुख घूमने के लिए करने लगे हैं। 

कश्मीर(Kashmir) की राजधानी श्रीनगर(Srinagar) झेलम नदी(Jhelam River) के खूबसूरत घाटी में स्थित हैं। डल झील(Dal Lake) इसकी खूबसूरती में चार चाँद लगा देता हैं। कश्मीर घाटी में छह जिले बड़गाम, पुलवामा, श्रीनगर, बारामुला, कुपवाड़ा और अनंतनाग हैं। कश्मीर घाटी की सुंदरता के बारे में किसी कवि ने कहा है कि - 

ग़र फ़िरदौस बर रुए ज़मीं अस्त,
हमीं अस्त, हमीं अस्त, हमीं अस्त। 

अर्थात अगर इस धरती पर कहीं स्वर्ग है तो यहीं है, यहीं है, यहीं है। कश्मीर(Kashmir) में सर्दियों के मौसम में बर्फ़बारी होता है और गर्मी के मौसम यहाँ बहुत ही सुहावने होते हैं। गर्मी के मौसम में हम लोगों का भी कश्मीर घूमने का कार्यक्रम बना। हमारी कश्मीर(Kashmir) की यात्रा बहुत ही यादगार और अच्छी रही। हमें अपने देश के एक बेहद खूबसूरत हिस्से और वहां के लोगों और संस्कृति को पास से जानने का मौका मिला। अपने कश्मीर(Kashmir) के यात्रा के अनुभव और घूमने के मुख्य स्थानों के बारे में बताने की कोशिश कर रहा हूँ -

डल  झील श्रीनगर (Dal Lake - Srinagar)
डल झील(Dal Lake) कश्मीर की राजधानी श्रीनगर(Srinagar) में स्थित एक बेहद ही खूबसूरत झील है। चारों ओर पहाड़ों से घिरी यह झील पूरे दुनिया में प्रसिद्ध है। इस झील में यहाँ की विशेष नाव शिकारा(Shikara) में झील की सैर करना एक बहुत ही सुखद अनुभव था। शिकारा बहुत सुंदर ढंग से सजाये गए थे जिसपर बैठने के लिए आरामदायक मखमली गद्दे रखे गए थे। झील के अंदर सुन्दर फौवारे लगाए गए हैं। शिकारे पर ही आपको चलता फिरता बाज़ार भी नज़र आता है। खाने पीने के सामान, फल, स्थानीय वस्तुओं से भरे शिकारे आपके आस पास आकर अपने सामानों को बेचने लगते हैं। हम लोगों ने कश्मीरी कहवा(Kashmiri Kahwa) का स्वाद लिया। दिन ढलते ही शाम के समय यह झील और भी अच्छी दिखने लगती है। हम लोग अपने कश्मीर यात्रा के पहले दिन ही डल झील(Dal Lake) में 3-4  घंटे शिकारा विहार का लुफ्त उठाते रहे। झील के चारों ओर रोड पर लगे सुन्दर लाइट के बीच में यह शांत झील सुकून का एहसास दिला रही थी। यह बहुत ही अच्छा अनुभव था। डल झील में सभी को शिकारा राइड(Shikara Ride) ज़रूर करना चाहिए। 

गुलमर्ग (Gulmarg)
अपने कश्मीर(Kashmir) यात्रा के दूसरे दिन हमें गुलमर्ग(Gulmarg) घूमने जाना था। श्रीनगर के पश्चिम में 51 किलोमीटर दूर बसा गुलमर्ग(Gulmarg) एक विश्वप्रसिद्ध हिल स्टेशन है। इसे फूलों की वादी( Meadows of Flower) के नाम से भी जाना जाता है। श्रीनगर से गुलमर्ग का रास्ता भी बहुत अच्छा है। सर्दियों में लोग गुलमर्ग(Gulmarg) स्नो स्कीइंग(Snow Skiing) करने आते हैं। यहाँ का रोप वे(Rope Way or Cable Car) जिसे गोंडोला राइड(Gondola Ride) के नाम से जाना जाता है जो हमें गुलमर्ग के बेहद ऊँचे पहाड़ों पर ले जाता है। गोंडोला राइड(Gondola Ride) करना एक बहुत ही रोमांचकारी अनुभव था। हम लोगों ने गुलमर्ग(Gulmarg) के बर्फीले पहाड़ पर स्नो स्कीइंग(Snow Skiing) भी किया। चूँकि श्रीनगर(Srinagar) से गुलमर्ग(Gulmarg) की दूरी 3 घंटे में कार से पूरी हो जाती है इसलिए गुलमर्ग(Gulmarg) में लोग अक्सर रात्रि प्रवास(Night Stay) नहीं करते हैं और शाम तक श्रीनगर वापस आ जाते हैं।  हम लोगों ने भी ऐसा ही किया। 

पहलगाम(Pahalgam)
यह हमारा कश्मीर(Kashmir) में तीसरा दिन था। कश्मीर में घूमना हम लोगों को बहुत अच्छा लग रहा था। हम लोग श्रीनगर के पूर्व में 90 किलोमीटर दूर स्थित पहलगाम(Pahalgam) के लिए निकले। पहलगाम(Pahalgam) को चरवाहों की घाटी(Valley of Shepherd) के नाम से भी जाना जाता है। लिड्डर नदी(Lidder River) के किनारे बने रास्तों से हम लोग पहलगाम(Pahalgam) की ओर बढ़ चले थे। कश्मीर की खूबसूरती को यहाँ के देवदार के पेड़ और पत्थरों से टकरा कर बहती नदियां बढ़ा देती हैं। लगभग 4 घंटे के कार यात्रा के बाद हम लोग पहलगाम(Pahalgam) पहुँच गये। यहाँ से आगे मुख्य स्थानों को देखने के लिए घोड़ों पर बैठकर करना था। घोड़े पर बैठकर आगे के रास्तों पर बढ़ना बहुत ही रोमांचकारी और शानदार अनुभव था। कुछ स्थानों पर रास्ता बहुत ही खतरनाक और डरावना था लेकिन यहाँ के घोड़े और उसको चलाने वाले लोग बहुत ही अनुभवी हैं। हम लोगों ने यहाँ कश्मीर घाटी(Kashmir Valley) का सुंदर दृश्य देखा। रास्ते में सुन्दर झरने(Waterfall) भी दिखे। पहलगाम(Pahalgam) का सबसे अच्छा स्थान है बैसरन घाटी(Baisaran Valley)। हरे भरे घासों, देवदार के पेड़ों और बर्फीली पहाड़ों के मध्य में बसी यह घाटी कश्मीर(Kashmir) की सुंदरता का मुख्य स्तम्भ है। पहलगाम(Pahalgam) के बैसरन(Baisaran) की इस घाटी में हम लोगों ने बहुत अच्छा समय बिताया। चूँकि पहलगाम में हम लोगों का रात्रि प्रवास(Night Stay) था इसलिए हम लोग शाम को अपने होटल पहुंच गए। पहलगाम अमरनाथ की पवित्र यात्रा का एक मुख्य पड़ाव भी है। अगले दिन वापस श्रीनगर(Srinagar) जाने के क्रम में हम लोग अखरोट(Walnut) और सेव(Apple) के बाग देखने गए। पहलगाम(Pahalgam) में केसर(Saffron) की खेती भी होती है। हम लोगों ने यहाँ के स्थानीय दुकानों से सूखे मेवें(Dry Fruits) और केसर(Saffron) ख़रीदा। 

हाउस बोट श्रीनगर(House Boat - Srinagar)
पहलगाम से वापस श्रीनगर आकर हमें डल झील(Dal Lake) के हाउस बोट(House Boat) में रुकना था। यह कश्मीर(Kashmir) में हमारा चौथा दिन था। कार ने हमें डल झील(Dal Lake) के किनारे घाट पर उतार दिया जहाँ से हाउस बोट(House Boat) तक शिकारे पर बैठकर जाना था। शिकारे पर बैठकर हम लोग अपने हाउस बोट पर पहुँचे। देवदार के लकड़ी के बना हाउस बोट(House Boat) बहुत ही सुन्दर था। हाउस बोट(House Boat) से पूरा डल झील(Dal Lake) का नज़ारा आँखों को सुकून दे रहा था। हाउस बोट(House Boat) की बाहरी नक्काशी बेहद शानदार थी। लकड़ी के दीवारों पर सुन्दर कारीगरी की झलक दिख रही थी। हाउस बोट(House Boat) की आंतरिक सजावट (Interior Decoration) भी बहुत अच्छी थी। हाउस बोट(House Boat) पर बेहद नर्म कालीन बिछी हुई थी। शाम के समय हम लोग हाउस बोट(House Boat) के बाहर देर रात तक बैठकर डल झील(Dal Lake) को खूबसूरती को निहारते रहे। यह एक बहुत अच्छा और ना भूलने वाला पल था। 

सोनमर्ग(Sonmarg)
कश्मीर(Kashmir) में पांचवा दिन और हमारा अगला पड़ाव सोनमर्ग(Sonmarg) में था। श्रीनगर(Srinagar) से सोनमर्ग की दूरी 81 किलोमीटर है। सोनमर्ग(Sonmarg) श्रीनगर के पूर्व में है। हम लोग श्रीनगर से सोनमर्ग(Sonmarg) के रास्तों को देखते हुए आये। यह बहुत ही सुन्दर प्राकृतिक दृश्यों से होकर गुज़रता है। सोनमर्ग(Sonmarg) का सबसे प्रसिद्ध स्थान है थाजीवास ग्लेशियर(Thajiwas Glacier)। अपने होटल में हम लोग थोड़ा रूककर थाजीवास ग्लेशियर(Thajiwas Glacier) देखने के लिए निकले। होटल के पास से ही घोड़े पर बैठ कर जाना था। घोड़े वाले ने ही हमें खास गर्म कपड़े और जूते पहनने के लिए दिए। सोनमर्ग(Sonmarg) में घोड़े से किया जाने वाला रास्ता पहलगाम(Pahalgam) के रास्तों से अपेक्षाकृत आसान है। रास्ते में हम लोगों ने प्रसिद्ध बॉलीवुड फिल्मों के शूटिंग के स्थान देखे। सोनमर्ग(Sonmarg) बहुत ही सुन्दर स्थान है। यहाँ के घोड़े नदी को भी निर्भीक होकर आसानी से पार कर रहे थे। कुछ देर बाद हम लोग थाजीवास ग्लेशियर(Thajiwas Glacier) के पास पहुंच गए। यहाँ पर स्थानीय लोग आग जलाये हुए थे। बारिश के वजह से सर्दी  काफी बढ़ गयी थी। हम लोगों ने यहाँ चाय और मैगी खाया। थोड़े देर बाद हम लोग थाजीवास ग्लेशियर(Thajiwas Glacier) के पास ट्रैकिंग(Trekking) करते हुए बढ़ने लगे। सामने बर्फ के पहाड़ और वहाँ से पिघलकर बहता पानी बहुत अच्छा लग रहा था। हम लोगों ने थाजीवास ग्लेशियर(Thajiwas Glacier) को बहुत पास से देखा जहाँ बर्फ पिघलकर नदी बन रहा था। अब शाम होने लगा था और हम लोग वापस होटल आ गए। 

कश्मीर(Kashmir) में बिताये गए यह पाँच दिन अब तक की ज़िन्दगी के बहुत खूबसूरत दिनों में से एक थे। कश्मीर को पास से देखकर हमने पाया की वास्तव में यह धरती का स्वर्ग है। कश्मीर का हर हिस्सा एक सुन्दर प्राकृतिक नज़ारा है। यहाँ के लोग, संस्कृति, खूबसूरत वादियाँ, देवदार के जंगल, डल झील, बर्फीली पहाड़िया, सुन्दर झरने, निर्मल नदियां और केसर तथा सेव के बाग़ सभी को अपने ओर आकर्षित करते हैं। हम लोगों को यहाँ घूमना बहुत अच्छा लगा। जब कभी भी आप लोगों को कश्मीर(Kashmir) आने का मौका मिले यहाँ ज़रूर आइये। 

 ***********

कश्मीर में ये करना ना भूलें   डल झील में शिकारा राइड, गुलमर्ग में गोंडोला राइड, पहलगाम में सेव के बगीचे देखना, कश्मीरी कहवा का स्वाद लेना, हाउस बोट में रुकना,  फोटोग्राफी।  
कश्मीर कैसे पहुँचे  : निकटतम हवाई अड्डा श्रीनगर में स्थित है तथा निकटम रेलवे स्टेशन भी जम्मू में 290 किलोमीटर दूर है जहाँ के लिए देश के सभी बड़े शहरों से ट्रैन मिलती हैं। जम्मू, लेह, दिल्ली चंडीगढ़ इत्यादि स्थानों से कश्मीर घाटी आप सड़क मार्ग से आसानी से पहुँच सकते हैं।  
कश्मीर जाने सबसे अच्छा समय : वैसे तो पूरे साल कश्मीर में पर्यटक आते रहते हैं लेकिन गर्मियों में मार्च से अक्टूबर तक कश्मीर जाने का सबसे अच्छा समय हैं। सर्दियों में दिसंबर और जनवरी में बर्फबारी ( Snowfall ) का लुफ्त लेने आप कश्मीर आ सकते हैं। 
कश्मीर जाने में लगने वाला समय  :   5 दिन / 4 रात












Video Links Below 

1. Shikara Ride in Dal Lake


Blogger Name: Pramod Kumar Kushwaha
For more information & feedback write email at : pktipsonline@gmail.com

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मालवण : सिंधुदुर्ग की शान ( Trip to Malvan - Hindi Blog )

महाबलेश्वर और पंचगनी : एक प्यारा सा हिल स्टेशन (Trip to Mahabaleshwar & Panchgani - Hindi Blog)

समुद्र में मोती : अंडमान निकोबार द्वीप समूह की यात्रा (Andaman Trip - Hindi Blog)

श्रीनगर : एक खूबसूरत शाम डल झील के नाम (A Memorable Evening in Dal Lake Srinagar - Hindi Blog)

चित्रकूट : जहाँ कण कण में बसे हैं श्रीराम (Trip to Chitrakoot - Hindi Blog)

प्राचीन गुफाओं और मंदिरों का शहर : बादामी, पट्टदकल और ऐहोले (Trip to Badami, Pattadkal & Aihole - Hindi Blog)

ऊटी और कुन्नूर : नीलगिरी का स्वर्ग (Trip to Ooty & Coonoor - Hindi Blog)

कास पठार : महाराष्ट्र में फूलों की घाटी (Trip to Kaas Plateau : Maharashta's Valley of Flower-Hindi Blog)

पालखी : पंढरपुर की धार्मिक यात्रा(Palkhi Yatra to Pandharpur - Hindi Blog)