महाबलेश्वर और पंचगनी : एक प्यारा सा हिल स्टेशन (Trip to Mahabaleshwar & Panchgani - Hindi Blog)


महाबलेश्वर और पंचगनी(Mahabaleshwar and Panchgani) एक बहुत ही खूबसूरत हिल स्टेशन है। स्ट्रॉबेरी की खेती के लिए प्रसिद्ध यह स्थान महाराष्ट्र के सातारा(Satara) जिले में स्थित हैं।  पुणे के दक्षिण में 120 किलोमीटर दूर पश्चिमी घाट की पहाड़ियों के मध्य में है।  यहाँ आसानी से सड़क मार्ग से पहुँचा जा सकता है।  निकटम रेलवे स्टेशन सातारा एवं निकटम हवाई अड्डा पुणे है।

पुणे से हम लोग सड़क मार्ग से महाबलेश्वर और पंचगनी के लिए निकले।  पुणे शहर से बाहर निकलते ही एक्सप्रेस वे मिल जाता है।  महाबलेश्वर और पंचगनी तक का जाने का रास्ता बहुत ही अच्छा है जो हरे भरे पहाड़ों और झरनों से भरा हुआ है।  करीब 3 घंटे की यात्रा के बाद हम लोग पंचगनी पहुंचे। 

 पंचगनी ( Panchgani )
पंचगनी(Panchgani) का मतलब होता है पाँच पहाड़ों से घिरा।  पंचगनी में मौसम बहुत ही खुशनुमा था।  हल्की बारिश और आसमान में बादल माहौल को बहुत ही अच्छा बना रहें थे। पंचगनी(Panchgani) का सबसे प्रसिद्ध जगह टेबल पॉइंट(Table Point) है।  यहाँ बहुत सारी बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग हुई है।  फिल्म 'राजा हिंदुस्तानी' का गाना 'पूछो ज़रा पूछो'  की शूटिंग यही इस पॉइंट पर हुई थी।  यह पहाड़ के ऊपर कई वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ समतल जगह है।  दूर दूर तक फैले इस पॉइंट पर घुड़सवारी और तांगों पर घूमने की व्यवस्था है।  हम लोग तांगे पर बैठकर पूरे जगह 'राजा हिंदुस्तानी' फिल्म के गाने को गुनगुनाते हुए घूमे।  इस पॉइंट पर गरमा गरम मक्के का भुट्टा मिलता है जो यहाँ के ठंडे मौसम में खाना बहुत अच्छा लगता है।  इस पॉइंट के पास में ही एक प्राचीन गुफा हैं जिसका नाम टाइगर केव(Tiger Cave) है। टेबल पॉइंट से चारों तरफ का नज़ारा बहुत ही सुन्दर दिखता हैं।  टेबल पॉइंट(Table Point) के ऊपर ही एक बहुत ही खूबसूरत झील भी है।  इस पॉइंट के पास ही नाश्ता करने की कई दुकाने हैं जहाँ आप मैगी, चाय, पकोड़े  खा सकतें हैं।  करीब 2 घंटे टेबल पॉइंट पर बिताने के बाद हम लोग अपने अगले गंतव्य महाबलेश्वर(Mahabaleshwar) की ओर निकले।  

 महाबलेश्वर ( Mahabaleshwar )
महाबलेश्वर(Mahabaleshwar) के कुछ सबसे अच्छे दर्शनीय स्थानों के बारे में एक एक करके बताना चाहूँगा :

मैप्रो गार्डेन ( Mapro Garden )
पंचगनी(Panchgani) से महाबलेश्वर(Mahabaleshwar) जाने के रास्ते में एक बहुत की लोकप्रिय स्थान मैप्रो गार्डन पड़ता हैं। यहाँ हर साल स्ट्रॉबेरी महोत्सव(Strawberry Festival) होता है।  मैप्रो(Mapro) कंपनी द्वारा संचालित इस जगह पर एक बहुत ही अच्छा रेस्टोरेंट है।  यहां सबको जरूर जाना चाहिए।  यहाँ का रसोईघर खुले जगह पर है जहाँ सब कुछ पकते हुए आप देख सकतें हैं।  पिज़्ज़ा, सैंडविच, ब्रेड तथा तरह तरह के पेय पदार्थ अपने आँखों के सामने बनते हुए देखना बहुत ही अच्छा अनुभव है।  यहाँ एक चॉकलेट भी फैक्ट्री भी है जहाँ चॉकलेट बनते हुए दिखता हैं।  इसके अलावा यहाँ एक शॉपिंग काम्प्लेक्स भी है जहाँ आप तरह के टॉफी, चॉकलेट, जूस इत्यादि मैप्रो (Mapro) कंपनी के बेहतरीन उत्पाद खरीद सकते हैं। बच्चों के लिए खेलने की भरपूर जगह यहाँ है।  कुछ समय बिता कर हम लोग आगे बढ़े।


एलीफैंट हेड पॉइंट / नीडल पॉइंट / केट्स पॉइंट / वाई गाँव  ( Elephant Head / Kates Point / Wai )
यह बहुत ही अच्छा पॉइंट है जहाँ से सह्याद्रि रेंज(Sahayadri Range) को देख सकते है।  इस पॉइंट पर हाथी के सिर के आकार के पत्थर  होने की वजह से इसका नाम एलीफैंट हेड पॉइंट(Elephant Head Point) है।  सुई के छेद जैसे पत्थर में आर पार दिखने के कारण इस पॉइंट को नीडल पॉइंट(Needle Point) भी कहते हैं।  सामने नीचे की घाटी में बहुत ही खूबसूरत 'वाई' गाँव(Wai Village) दिखाई देता है जहाँ बॉलीवुड की मशहूर शाहरुख़ खान की फिल्म 'स्वदेश' की शूटिंग हुई थी। यहाँ एक इको पॉइंट भी है जहाँ घाटी की ओर बोलने पर आवाज़ गूँजने लगती है।  घाटी में एक बड़ी सी झील भी है।  यहाँ केट्स पॉइंट(Kates Point) से दूरबीन से भी आसपास के सुन्दर नज़ारें को दिखाने के लिए व्यवस्था हैं। पास में ही एक सुंदर सा झरना है जो नीडल पॉइंट से दिखता है।  हम लोग इस झरने के पास गए जो जंगलों से निकलता हुआ पहाड़ से घाटी में गिरता है।  घाटी में गिरने से पहले झरने का पानी कुछ दूर तक समतल जगह से गुज़रता है जहाँ आप पानी में पैर डाल कर थकान दूर कर सकतें हैं। यहाँ बंदरों का पूरा झुण्ड आपके स्वागत में हमेशा तत्पर रहता है इसलिए अपना कीमती सामान बचा कर रखिये।  

लॉडविक पॉइंट ( Lodwick Point )
यह मेरा पसंदीदा पॉइंट है। इस स्थान का नाम अंग्रेज़ अधिकारी जनरल लॉडविक(General Lodwick) के नाम पर रखा गया है जो सबसे पहले यहाँ पहुंचे थे।  कार पार्किंग स्थल से 2 किलोमीटर दूर घने जंगलों से गुज़रते हुए यहाँ आना पड़ता है।  जंगल के रास्ते में एक 25 फ़ीट का स्तम्भ(Piller) भी है जो जनरल लॉडविक के बेटे ने अपने बहादुर पिता की सम्मान में बनवाया था।  जंगली रास्ते को पार करने के बाद आगे का रास्ता पथरीला और चढ़ाई वाला है।  यह पॉइंट एक ऊँचे पत्थर पर स्थित है जहाँ से छत्रपति शिवाजी महाराज का मुख्य दुर्ग 'प्रतापगढ़ किला'(Pratapgarh Fort) दिखाई देता है। सामने दूर दूर तक फैली हरी भरी घाटियाँ सभी का मन मोह लेती है। यहाँ बैठ कर हम लोगो ने सामने दिखने वाले सुन्दर नज़रों का जी भरकर लुफ्त लिया और फोटो भी खींचे।

वेन्ना झील ( Venna Lake )
वेन्ना झील(Venna Lake) महाबलेश्वर(Mahabaleshwar) का मुख्य आकर्षण केंद्र है।  7 - 8 किलोमीटर के क्षेत्र में फैली यह एक मानव निर्मित झील है जिसका निर्माण 1942 में किया गया था।  यह झील महाबलेश्वर(Mahabaleshwar) की पानी की ज़रूरतों को पूरा करता है।  इस झील में नौका विहार(Boating) की भी व्यवस्था है। मानसून के वक़्त ठंढे मौसम के कारण कोहरा होने से झील का नज़ारा अद्भुत हो जाता है। झील के दूसरी ओर एक छोटा सा मंदिर भी है जो नाव से बहुत ही सुन्दर दिखता है। वेन्ना झील(Venna Lake) के पास घोड़े की सवारी भी कर सकते हैं।  झील के किनारे बहुत सारे स्नैक्स के दुकान है जहाँ आप चाय, कॉफ़ी, मैगी, पकोड़े तथा फलों जैसे कच्चे आम की कैरी, गाजर, अमरूद इत्यादि खाने का आनंद उठा सकते हैं।  हम लोगो ने यहाँ काफी अच्छा वक़्त गुज़ारा।

कृष्णाबाई मंदिर  (Krishnabai Temple )
कृष्णाबाई मंदिर(Krishnabai Temple) को कृष्णा नदी(Krishna River) का स्रोत(Source) माना जाता है। फोटोग्राफी के शौकीन लोगों के लिए सबसे पसंदीदा जगह है।  पत्थरों से निर्मित इस मंदिर की संरचना बहुत सुंदर है।  इस मंदिर में गाय के मुख से पानी निकलता हुआ एक मूर्ति है जिसका पानी एक टैंक में एकत्रित होता है। मंदिर परिसर में एक शिवलिंग भी है।  मंदिर के सामने से दिखने वाली सुंदर घाटियाँ बेहद मनमोहक हैं।  हम लोगों ने ढेर सारे फोटो यहाँ खींचे जो वास्तव में बहुत ही अच्छे दिखते हैं।  यहाँ कैमरा लेकर ज़रूर जाना चाहिए।

विल्सन पॉइंट (सूर्योदय पॉइंट ) (Wilson Sunrise Point )
यह महाबलेश्वर(Mahabaleshwar) का सूर्योदय पॉइंट(Sunrise Point) है। यहाँ पहाड़ों से निकलते हुए सूरज का जादुई दृश्य आप देख सकते हैं। सूर्योदय देखने के लिए यहाँ कई टॉवर भी बने हैं।  छितिज़ से निकलने वाली सूरज की केसरिया किरणें बहुत की सुन्दर नज़ारा पेश करती हैं।  अलार्म लगा कर जल्दी उठना न भूलें वरना आप बेहतरीन नज़ारा गवां सकते हैं।

आर्थर सीट पॉइंट ( Arther Seat Point )
इसको क्वीन ऑफ़ आल पॉइंट(Queen of all Points) मतलब सभी पॉइंट की रानी के नाम से जाना जाता है।  इस पॉइंट को पहले सुसाइड पॉइंट(Suicide Point) के नाम से जाना जाता था ।  सर आर्थर मैलेट(Sir Arther Malet) जो इस स्थान पर निवास बनाने वाले पहले व्यक्ति थे के नाम से इस स्थान का नाम आर्थर सीट पॉइंट(Arther Seat Point) पड़ा।  इस पॉइंट से कोंकण और डेक्कन के भौगोलिक इलाकों के अंतर को आप आसानी से समझ सकते हैं। पहाड़ों और घाटियों में दूर तक फैले हल्के हरे रंग के पौधे आँखों को अद्भुत सुकून देते हैं।  इस पॉइंट की एक ख़ास बात यहाँ बनने वाला वायु दबाव है जिसके कारण हल्की वस्तुओं को घाटी में फेकने से वापस ऊपर की ओर आ जाता हैं। यहाँ आप अपने सामान को बंदरों से बचाकर रखिये जो इस पॉइंट पर बहुत हैं।  

बॉम्बे पॉइंट  (सनसेट पॉइंट ) ( Bombay Sunset Point )
इस पॉइंट को सनसेट पॉइंट(Sunset Point) से भी जाना जाता है जहाँ से सूर्यास्त का खूबसूरत नज़ारा दिखता है।  सामने की घाटी में डुबता सूरज आसमान में अपनी लाली बिखेरता हुआ बहुत अच्छा प्रतीत होता है।  यहाँ पार्किंग की सीमित व्यवस्था है इसलिए थोड़ा जल्दी पहुँचना चाहिए।

इन सब के अलावा यहाँ सिडनी पॉइंट(Sydney Point), लिंगमाला वॉटरफॉल(Lingmala Waterfall), चाइनामैन वॉटरफॉल(Chinaman Waterfall), महाबलेश्वर मंदिर(Mahabaleshwar Temple), एल्फिंस्टोन पॉइंट(Elphinstone Point) जैसे स्थान भी देख सकते है।  तो फिर देर मत करिये और पूरे परिवार के साथ मानसून के वक़्त एक बार महाबलेश्वर(Mahabaleshwar) और पंचगनी(Panchgani) की सैर जरूर कर आइये।

********

महाबलेश्वर / पंचगनी में ये करना ना भूलें  : स्ट्रॉबेरी खाना, मैप्रो गार्डन में नाश्ता, वेन्ना झील में नौका विहार, घुड़सवारी, फोटोग्राफी।  
महाबलेश्वर / पंचगनी कैसे पहुँचे  : निकटतम हवाई अड्डा पुणे 120 किलोमीटर दूर है तथा निकटम रेलवे स्टेशन सातारा 68 किलोमीटर दूर है। मुंबई से 260 किलोमीटर और पुणे 120 किलोमीटर दूर महाबलेश्वर आप सड़क मार्ग से आसानी से पहुँच सकते हैं।  
महाबलेश्वर / पंचगनी  जाने सबसे अच्छा समय :  वैसे तो महाबलेश्वर और पंचगनी पूरे साल जाया जा सकता है लेकिन सबसे अच्छा समय जुलाई से अक्टूबर ( मानसून के बारिश के वक़्त ) हैं।
महाबलेश्वर / पंचगनी  जाने में लगने वाला समय  :   2 दिन / 1 रात  















Video Links Below 

1. Table Point at Panchgani


Blogger Name: Pramod Kumar Kushwaha
For more information & feedback write email at : pktipsonline@gmail.com


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

कश्मीर : धरती का स्वर्ग (Trip to Kashmir : Paradise on Earth - Hindi Blog)

मालवण : सिंधुदुर्ग की शान ( Trip to Malvan - Hindi Blog )

समुद्र में मोती : अंडमान निकोबार द्वीप समूह की यात्रा (Andaman Trip - Hindi Blog)

श्रीनगर : एक खूबसूरत शाम डल झील के नाम (A Memorable Evening in Dal Lake Srinagar - Hindi Blog)

चित्रकूट : जहाँ कण कण में बसे हैं श्रीराम (Trip to Chitrakoot - Hindi Blog)

प्राचीन गुफाओं और मंदिरों का शहर : बादामी, पट्टदकल और ऐहोले (Trip to Badami, Pattadkal & Aihole - Hindi Blog)

ऊटी और कुन्नूर : नीलगिरी का स्वर्ग (Trip to Ooty & Coonoor - Hindi Blog)

कास पठार : महाराष्ट्र में फूलों की घाटी (Trip to Kaas Plateau : Maharashta's Valley of Flower-Hindi Blog)

पालखी : पंढरपुर की धार्मिक यात्रा(Palkhi Yatra to Pandharpur - Hindi Blog)